मामूली बढ़त के साथ बंद हुआ शेयर बाजार, HDFC बैंक ने रचा इतिहास

सप्‍ताह के आखिरी कारोबारी दिन शेयर बाजार में शानदार तेजी देखने को मिली. हालांकि कारोबार के अंत में बिकवाली की वजह से बाजार ने बड़ी बढ़त गंवा दी.

एचडीएफसी बैंक की खास उपलब्‍धि
दीपक कुमार
  • मुंबई,
  • 15 नवंबर 2019,
  • अपडेटेड 5:35 PM IST

  • सेंसेक्स 70.21 अंक बढ़कर 40,356.69 अंक पर बंद हुआ
  • निफ्टी 23.35 अंक की बढ़त के साथ 11,895.45 अंक पर रहा

वैश्विक बाजारों में पॉज‍िटिव रुख के बीच भारती एयरटेल और भारतीय स्टेट बैंक के शेयरों में तेजी से शेयर बाजार में रौनक देखने को मिली. हालांकि, नरम पड़ती आर्थिक वृद्धि की चिंताओं को लेकर निवेशकों के सतर्क रुख से कारोबार के आखिरी घंटे में बाजार में कुछ गिरावट आई. बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 70.21 अंक यानी 0.17 प्रतिशत बढ़कर 40,356.69 अंक पर बंद हुआ. इसी तरह, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 23.35 अंक यानी 0.20 प्रतिशत की बढ़त के साथ 11,895.45 अंक पर बंद हुआ.

HDFC बैंक ने रचा इतिहास

HDFC बैंक के लिए शुक्रवार का दिन बेहद खास रहा. दरअसल, कारोबार के दौरान बैंक का मार्केट कैप 7 लाख करोड़ के पार पहुंच गया. यह पहली बार है जब किसी बैंक का मार्केट कैप 7 लाख करोड़ के आंकड़े को पार किया है. इसी के साथ यह मार्केट कैप के लिहाज से देश की तीसरी बड़ी फर्म बन गई है. HDFC बैंक से आगे टीसीएस और रिलायंस इंडस्‍ट्रीज है. हालांकि कारोबार के अंत में HDFC बैंक का मार्केट कैप 6.99 लाख करोड़ रहा. वहीं शेयर भाव की बात करें तो 0.36 फीसदी की बढ़त के साथ 1278.30 रुपये पर रहा.

SBI में 6 फीसदी की तेजी

कारोबार के दौरान एसबीआई के शेयर में भी 6 फीसदी के करीब तेजी रही. कारोबार के अंत में बैंक का शेयर भाव 5.19 फीसदी की तेजी के साथ 322 रुपये पर रहा. दरअसल, एसबीआई के सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्‍टर्स की एग्‍जीक्‍यूटिव कमेटी ने एसबीआई कार्ड में 4 फीसदी हिस्‍सेदारी आईपीओ के जरिये बेचने को मंजूरी दे दी है. इसके तहत बैंक अपने 3.73 करोड़ शेयरों की बिक्री करेगा. इसके लिए बाजार नियामक सेबी, भारत सरकार, भारतीय रिजर्व बैंक के अलावा अन्‍य संबंधित विभाग और प्राधिकरणों से मंजूरी ली जाएगी.

घाटे के बावजूद एयरटेल-वोडाफोन आइडिया में तेजी

चालू वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में दिग्‍गज टेलिकॉम कंपनी भारती एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया को कुल 70 हजार करोड़ का घाटा हुआ है. इस घाटे के बावजूद दोनों टेलिकॉम कंपनियों के शेयर में तेजी दर्ज की गई. बीएसई इंडेक्‍स में एयरटेल का शेयर करीब 9 फीसदी की तेजी के साथ टॉप गेनर रहा तो वहीं वोडाफोन-आइडिया में करीब 25 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई.

दरअसल, मीडिया में ऐसी खबरें चल रही हैं कि मोदी सरकार वित्तीय दबाव कम करने के लिए टेलिकॉम कंपनियों को राहत पैकेज देने का प्लान बना रही है. खबरों के मुताबिक राहत पैकेज को लेकर सरकार ने कैबिनेट सचिव की अध्यक्षता में सचिवों की एक समिति गठित की थी. इस समिति ने राहत पैकेज का पूरा ड्राफ्ट तैयार कर लिया है. यही वजह है कि एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया के शेयर में तेजी दर्ज की गई. बता दें कि एयरटेल को सितंबर तिमाही में 23,045 करोड़ रुपये का भारी नुकसान हुआ है. वहीं वोडाफोन-आइडिया को 50,921 करोड़ रुपये का झटका लगा है.

कॉफी डे एंटरप्राइजेज में 5 फीसदी की तेजी

कारोबार के दौरान भारी भरकम कर्ज में फंसी कॉफी डे एंटरप्राइजेज (सीडीईएल) के शेयर में 5 फीसदी से अधिक की तेजी रही. दरअसल, ऐसी खबरें हैं कि केकेआर, टीपीजी कैपिटल और बेन कैपिटल जैसी प्राइवेट इक्विटी (पीई) कंपनियों ने कॉफी डे में बड़ी हिस्सेदारी खरीदने के लिए वार्ता शुरू की है. ऐसे में उम्‍मीद की जा रही है कि कॉफी डे एंटरप्राइजेज संकट के दौर से निकल सकती है.

Read more!

RECOMMENDED