ओरिएंटल बैंक का ग्राहकों को तोहफा, लोन को लेकर लिया ये फैसला

बीते दिनों रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्‍तिकांत दास ने सभी बैंकों से कर्ज और जमा पर दी जाने वाली ब्याज दरों को रेपो रेट से जोड़ने की सलाह दी थी.

लोन को लेकर लिया ये फैसला
aajtak.in
  • नई दिल्‍ली,
  • 21 अगस्त 2019,
  • अपडेटेड 8:38 AM IST

ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (ओबीसी) ने अपने ग्राहकों को तोहफा दिया है. बैंक के मुताबिक ग्राहक अब रेपो रेट आधारित ब्याज पर होम और ऑटो लोन ले सकते हैं. इसका मतलब यह हुआ कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया जब भी रेपो रेट में बदलाव करेगा, उसके बाद तत्‍काल प्रभाव से बैंक के होम या ऑटो लोन की ब्‍याज दरें भी बदल जाएंगी.

यहां बता दें कि आरबीआई हर दो महीने पर मौद्रिक नीति की बैठक करता है. इस बैठक में रेपो रेट की समीक्षा की जाती है. आसान भाषा में समझें तो हर दो महीने पर ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के ग्राहकों की लोन की ब्‍याज दरें भी बदल सकती हैं. हालांकि यह ऑफर सिर्फ नए ग्राहकों के लिए है.  

क्‍या कहा बैंक ने

ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के एक बयान के मुताबिक बैंक ने नये होम या ऑटो लोन प्रोडक्‍ट पेश किये हैं, जो रिजर्व बैंक के रेपो रेट से जुड़ा है. बैंक ने कहा, ''ग्राहकों के पास मार्जिनल कॉस्‍ट ऑफ लेंडिंग रेट (MCLR) से जुड़े रेट और रेपो आधारित रेट में से एक विकल्प को चुनना होगा.''  बैंक ने बताया कि होम लोन पर 8.35 फीसदी से जबकि ऑटो लोन 8.70 फीसदी ब्‍याज दर से शुरू हो रहे हैं.

ओबीसी ने नए उत्पाद ऐसे समय में पेश किया है, जब हाल ही में रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बैंकों से कर्ज एवं जमा पर ब्याज दर को रेपो दर से जोड़ने को कहा था. हालांकि स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया ने कुछ महीनों पहले ही इसकी शुरुआत कर दी थी. इसके बाद अन्‍य सरकारी बैंकों ने भी लोन को रेपो रेट से लिंक किया है.

लगातार रेपो रेट में कटौती

बीते चार मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक में आरबीआई ने लगातार रेपो रेट में कटौती की है. वर्तमान में रेपो रेट 5.40 फीसदी पर पहुंच गई है. यहां बता दें कि रेपो रेट वह दर होती है जिस पर बैंकों को आरबीआई कर्ज देता है. बैंक इस कर्ज से ग्राहकों को कर्ज देते हैं. रेपो रेट कम होने से मतलब है कि बैंक से मिलने वाले कई तरह के कर्ज सस्ते हो जाएंगे.

Read more!

RECOMMENDED