दिसंबर तिमाही में और कम होगी GDP ग्रोथ! नोमुरा ने बताई वजह

जापान की फाइनेंशियल सर्विसेज प्रोवाइडर कंपनी नोमुरा के मुताबिक इस साल दिसंबर तिमाही में भारत की आर्थिक वृद्धि दर यानी जीडीपी ग्रोथ 4.3 फीसदी रह सकती है.

जीडीपी के मोर्चे पर फिर लग सकता है झटका
aajtak.in
  • नई दिल्‍ली,
  • 12 दिसंबर 2019,
  • अपडेटेड 2:37 PM IST

  • दिसंबर तिमाही में जीडीपी ग्रोथ 4.3 फीसदी रह सकती है
  • 2020 की पहली तिमाही में ग्रोथ 4.7% रहने का है अनुमान

जापान की फाइनेंशियल सर्विसेज प्रोवाइडर कंपनी नोमुरा की मानें तो इस साल दिसंबर तिमाही में भी जीडीपी ग्रोथ में गिरावट आ सकती है. नोमुरा के मुताबिक इस साल दिसंबर तिमाही में भारत की आर्थिक वृद्धि दर यानी जीडीपी ग्रोथ 4.3 फीसदी रह सकती है. हालांकि नोमुरा का मानना है कि वर्ष 2020 की पहली तिमाही में जीडीपी की वृद्धि दर में मामूली सुधार होगा और यह 4.7 फीसदी रह सकती है.

बता दें कि सरकारी आंकड़ों के मुताबिक चालू वित्त वर्ष (2019-20) की दूसरी तिमाही में जीडीपी का आंकड़ा 4.5 फीसदी पहुंच गया है. यह करीब 6 साल में किसी एक तिमाही की सबसे बड़ी गिरावट है. इससे पहले मार्च 2013 तिमाही में देश की जीडीपी दर इस स्‍तर पर थी.

नोमुरा ने क्‍या बताई वजह?

नोमुरा की मुख्य अर्थशास्त्री (भारत एवं एशिया) सोनल वर्मा ने कहा, ‘‘गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) का संकट लंबा खींच जाने के कारण घरेलू कर्ज उपलब्धता की स्थिति गंभीर बनी हुई है.’’ सोनल वर्मा के मुताबिक, ‘‘वित्त वर्ष के हिसाब से हमें जीडीपी वृद्धि दर वित्त वर्ष 2019-20 में 4.7 फीसदी और वित्त वर्ष 2020-21 में 5.7 फीसदी रहने का अनुमान है. इससे पता चलता है कि सुधार में विलंब हो रहा है तथा इसकी गति 2020 के अंत तक संभावित गति की तुलना में कम रह सकती है.’’

लगातार 6वीं तिमाही में आई गिरावट

बता दें कि देश की जीडीपी लगातार 6 तिमाही से गिर रही है. बीते वित्त वर्ष 2019 की पहली तिमाही में ग्रोथ रेट 8 फीसदी पर थी तो दूसरी तिमाही में यह लुढ़क कर 7 फीसदी पर आ गई. वहीं बीते वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही की बात करें तो जीडीपी ग्रोथ की दर 6.6 फीसदी और चौथी तिमाही में 5.8 फीसदी पर थी. इसके अलावा वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही में जीडीपी ग्रोथ की दर गिरकर 5 फीसदी पर आ गई. जबकि दूसरी तिमाही में जीडीपी का आंकड़ा 4.5 फीसदी पहुंच गया है.

Read more!

RECOMMENDED