SBI-HDFC के बाद अब इस बैंक ने ग्राहकों को दी राहत, सस्‍ती होगी आपकी EMI

बैंक ऑफ इंडिया ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड आधारित लेंडिंग रेट यानी MCLR में कटौती कर दी है. बैंक के इस फैसले का फायदा ग्राहकों को मिलेगा.

बैंक ऑफ इंडिया ने ग्राहकों को दी राहत
aajtak.in
  • नई दिल्‍ली,
  • 10 दिसंबर 2019,
  • अपडेटेड 11:08 AM IST

अगर आप बैंक ऑफ इंडिया (बीओआई) के ग्राहक हैं तो आपके लिए एक अच्‍छी खबर है. दरअसल, पब्‍लिक सेक्‍टर के इस बैंक ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड आधारित लेंडिंग रेट यानी MCLR में  0.20 फीसदी तक की कटौती कर दी है.यह लगातार तीसरा बैंक है जिसने MCLR पर कैंची चलाई है.

बैंक ऑफ इंडिया बैंक की ओर से जारी बयान के मुताबिक एक दिन के लिए MCLR आधारित ब्याज दर में 0.20 फीसदी की कटौती की जबकि अन्य अवधि के MCLR ब्याज में 0.10 फीसदी की कमी की है. इस कटौती के बाद एक दिन की अल्पअवधि के कर्ज पर MCLR  की दर 7.75 फीसदी होगी. वहीं एक साल की MCLR आधारित कर्ज पर ब्याज दर 8.20 फीसदी होगी, जो पहले 8.30 फीसदी थी. यह 10 दिसंबर यानी आज से प्रभावी है. बता दें कि बैंक के इस फैसले से उन ग्राहकों की ईएमआई कम हो जाएगी जिन्‍होंने बैंक ऑफ इंडिया से ऑटो या होम लोन ले रखा है.

एचडीएफसी बैंक ने भी दी राहत

इससे पहले एचडीएफसी बैंक ने सभी अवधि के लिए MCLR दरें 0.15 फीसदी तक घटाने का ऐलान किया था. इस कटौती के बाद एचडीएफसी बैंक के 1 साल की MCLR 8.30 फीसदी से घटकर 8.15 फीसदी हो गई है. वहीं दो और तीन साल की MCLR   0.15 फीसदी की कटौती के साथ क्रमश: 8.25 फीसदी और 8.35 फीसदी पर आ गई है.

SBI ने की लगातार आठवीं बार कटौती

वहीं देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने भी MCLR में 0.10 फीसदी की कटौती कर दी है. एक दिन से लेकर एक महीने तक के लोन के लिए MCLR रेट 7.65 फीसदी, तीन महीने के लिए MCLR रेट 7.70 फीसदी, छह महीने के लिए 7.85 फीसदी, दो साल के लिए 8.10 फीसदी और तीन साल के लिए 8.20 फीसदी हो गया है. बहरहाल, बैंक के इस फैसले से लाखों होम या ऑटो लोन ग्राहकों की ईएमआई घट जाएगी. बता दें कि एसबीआई ने इस वित्त वर्ष में अपने MCLR में लगातार आठवीं बार कटौती की है.

Read more!

RECOMMENDED