scorecardresearch
 

Subsidy On Agricultural Machinery: खेती की मशीनों पर 50 % तक की सब्सिडी, सरकार ने किसानों से मांगे आवेदन

Subsidy on agricultural machinery: हरियाणा सरकार किसानों को केंद्र सरकार की SMAM स्कीम के तहत किसानों को कृषि यंत्र दे रही है. इसके लिए सरकार ने किसानों से आवेदन भी मांगे हैं. SMAM स्कीम के तहत सामान्य श्रेणी किसानों को 40% व आरक्षित श्रेणी किसानों को 50% अनुदान पर खेती की मशीनें उपलब्ध कराई जाती हैं.

X
Hryana government invited application to provide subsidy on agricultural machinery
Hryana government invited application to provide subsidy on agricultural machinery
स्टोरी हाइलाइट्स
  • SMAM योजना के तहत मांगे गए आवेदन
  • समान्य श्रेणी के किसानों को 40% तक अनुदान

Subsidy on Agricultural Machinery:  खेती-किसानी में रोजाना नए-नए इनोवेशन हो रहे हैं. इन इनोवेशन की वजह से किसानों के लिए खेती-किसानी पहले के मुकाबले काफी आसान हो गई है. हालांकि, महंगी कीमतों की वजह से सभी किसानों तक इनकी पहुंच नहीं है. इसके लिए केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा इन खेती की मशीनों को खरीदने के लिए किसानों को सब्सिडी भी दी जाती है.

बता दें कि खेती में नई-नई मशीनों के आने के बाद फसल उत्पादन में फर्क दिखा है. पहले के मुकाबले किसानों का मुनाफा भी बढ़ा है. अब इसी कड़ी में हरियाणा सरकार ने किसानों को एक बड़ा तोहफा दिया है. दरअसल, खट्टर सरकार अपने राज्य के किसानों को खेती की मशीनों पर 40 से 50 फीसदी तक की छूट दे रही है.

इन यंत्रों पर 50 प्रतिशत तक की सब्सिडी

हरियाणा सरकार किसानों को केंद्र सरकार की SMAM स्कीम के तहत किसानों को ये यंत्र दे रही है. इसके लिए सरकार ने किसानों से आवेदन भी मांगे हैं. SMAM स्कीम के तहत सामान्य श्रेणी किसानों को 40% व आरक्षित श्रेणी किसानों को 50% अनुदान पर खेती की मशीनें उपलब्ध कराई जाती है. इच्छुक किसान agrimachinery.nic.in पर जाकर इन मशीनों के लिए आवेदन कर सकते हैं.

इन मशीनों पर मिल रही है सब्सिडी

सरकार द्वारा बीटी कॉटन सीड ड्रिल, सीड कम फर्टिलाइजर ड्रिल, स्वचालित रीपर-कम-बाइंडर, ट्रैक्टर चालित स्प्रे पंप, डीएसआर, पावर टिलर, ट्रैक्टर चालित रोटरी विडर, ब्रीकेट मेकिंग मशीन, मेज व मल्टीक्रॉप प्लांटर, मेज व मल्टीक्रॉप थ्रेशर तथा न्यूमैटिक प्लांटर शामिल हैं.

ऐसे करें आवेदन

बता दें कि इससे पहले भी खट्टर सरकार ने राज्य चलित योजना के तहत खेती की मशीनों पर सब्सिडी देने के लिए आवेदन मांगे गए थे. उस दौरान किसानों से आवेदन करते समय किसानों को 2.5 लाख रुपये से कम अनुदान वाले कृषि यंत्रों के लिए 2500 रुपये तथा 2.50 लाख या इससे अधिक रुपये के कृषि यंत्रों पर 5 हजार रुपये आवेदन करते समय टोकन मनी के रूप में जमा करवाए गए थे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें