scorecardresearch
 

खुशखबरी! अब बिहार में भी ड्रैगन फ्रूट की खेती, मिल रही है 50 हजार रुपये की सब्सिडी

Subsidy on Dragon Fruit Farming: बिहार सरकार किसानों को ड्रैगन फ्रूट की फसल लगाने पर 40 प्रतिशत तक की सब्सिडी दे रही है. उद्यान विभाग द्वारा ड्रैगन फ्रूट की एक हेक्टेयर में खेती की लागत 1 लाख 25 हजार रखी गई है. इसमें से किसानो को 40 प्रतिशत यानी 50 हजार रुपये सब्सिडी के तौर पर दिए जाएंगे.

X
Subsidy on Dragon Fruit Farming
Subsidy on Dragon Fruit Farming

Subsidy on Dragon Fruit Farming: खेती-किसानी में नई-नई तकनीकें आई हैं. इन तकनीकों की मदद से दुर्लभ किस्मों की फसलों की खेती कहीं भी होने लगी है. ड्रैगन फ्रूट भी कुछ इसी तरह का फसल है. इसकी खेती के लिए ठंड जलवायु वाले प्रदेश ज्यादा उपयुक्त माने जाते हैं. हालांकि, अब इसकी फसल मैदानी इलाकों में भी लगाई जाने लगी है. ड्रैगन फ्रूट की खेती को लेकर लोगों में दिलचस्पी बढ़े इसके लिए सरकार भी विभिन्न योजनाओं के माध्यम किसानों को प्रोत्साहित करती रहती है.

इतनी मिलेगी सब्सिडी

इसी कड़ी में बिहार सरकार किसानों को ड्रैगन फ्रूट की फसल लगाने पर 40 प्रतिशत तक की सब्सिडी दे रही है.  ड्रैगन फ्रूट की एक हेक्टेयर में खेती की लागत 1 लाख 25 हजार रखी गई है. इस हिसाब से किसानों को सब्सिडी के तौर 40 प्रतिशत यानी 50 हजार रुपये मिलेंगे. अगर आप बिहार के किसान हैं और इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो बिहार सरकार के उद्यान विभाग की वेबसाइट  http://horticulture.bihar.gov.in/ पर आवेदन कर सकते हैं.

कितने तापमान और बारिश में होती है ड्रैगन फ्रूट की खेती?

 ड्रैगन फ्रूट के लिए ज्यादा बारिश की जरूरत नहीं होती है. वहीं, अगर मिट्टी की गुणवत्ता भी ज्यादा अच्छी नहीं है, तो भी यह फ्रूट अच्छी तरह से उग सकता है. एक साल में 50 सेंटिमीटर की बारिश और 20 से 30 डिग्री सेल्सियस तापमान में ड्रैगन फ्रूट की खेती आसानी से की जा सकती है. इसकी खेती के लिए ज्यादा धूप की भी जरूरत नहीं होती है. ऐसे में यह जरूरी है कि आप शेड का इस्तेमाल जरूर करें, जिससे फल की खेती अच्छी तरह से हो सके. 

ड्रैगन फ्रूट के लिए आवश्यक मिट्टी कैसी हो? 
अगर आप अपने खेत में ड्रैगन फ्रूट की खेती करने की सोच रहे हैं तो आपकी मिट्टी 5.5 से 7 पीएच की होनी चाहिए. यह बालुई मिट्टी में भी हो सकता है. अच्छे कार्बनिक पदार्थ और रेतीली मिट्टी इसकी खेती के लिए सबसे अच्छी होती है. यूं तो ड्रैगन फ्रूट की खेती आप किसी भी इलाके में कर सकते हैं, लेकिन सबसे ज्यादा खेती महाराष्ट्र, गुजरात के कुछ इलाकों और राजस्थान में होती है. वहीं, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक जैसे राज्यों में भी बड़ी संख्या में किसान ड्रैगन फ्रूट्स की खेती करते हैं.

इतना है मुनाफा

ड्रैगन फ्रूट एक सीजन में कम से कम तीन बार फल देता ही है. एक फल का वजन आमतौर पर 400 ग्राम तक होता है. एक पौधे में कम से कम 50-60 फल लगते हैं. इस पौधे को लगाने के बाद पहले साल से ही आपको ड्रैगन फ्रूट का फल मिलने लगेगा. एक एकड़ के खेत में हर साल आठ से दस लाख रुपये तक की कमाई की जा सकती है. हालांकि, इसके लिए शुरुआती समय में चार-पांच लाख रुपये तक खर्च करने पड़ सकते हैं. इस खेती में पानी की जरूरत ज्यादा नहीं होने की वजह से किसानों को पानी पर ज्यादा खर्च नहीं करना पड़ता है, जिससे उन्हें काफी अच्छा मुनाफा होता है.  

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें