scorecardresearch
 
फायदे की बात

खेती-किसानी में सोलर पंप के इस्तेमाल के ये फायदे जानते हैं आप?

Solar Pump Tips ( Pic credit: AP)
  • 1/6

खेती-किसानी में सिंचाई एक बहुत बड़ी समस्या उभर कर सामने आई है. सिंचाई की कमी के चलते फसलों की उपज बुरी तरह से प्रभावित हो रही है. बिजली के माध्यम से सिंचाई करने से किसानों पर आर्थिक भार ज्यादा पड़ रहा है. डीजल से पंपसेट चलाने पर किसानों को ज्यादा करना पड़ रहा है.

Solar Pump Tips ( Pic credit: India Today)
  • 2/6

किसानों को इस समस्या से बचाने के लिए सोलर पंपों का इस्तेमाल काफी फायदेमंद साबित हो रहा है. प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत किसानों को 60 प्रतिशत तक की सब्सिडी पर सोलर पंप दिए जा रहे हैं. सूर्य की रोशनी से इसमें लगे सोलर पंप चार्ज होते हैं. चार्ज होने के बाद इसे आप इसकी उर्जा को आप पंप सेट चलाने के लिए सिंचाई के उपयोग में ला सकते हैं. 

Solar pump benefits for farmers( Pic credit: India today)
  • 3/6

सोलर पंप सेट के सहारे किसान इससे खेतों की सिंचाई की जरूरतों को पूरा तो कर ही सकते हैं. साथ ही वे 4 से 5 एकड़ भूमि पर सोलर संयंत्र स्थापित करके 15 लाख बिजली यूनिट का उत्पादन कर सकते हैं. बिजली विभाग अगर इसे 3 रुपये 7 पैसे के टैरिफ पर खरीदने पर आप आराम से सालाना 45 लाख तक की आय हासिल कर सकते हैं. इसका अर्थ ये हुआ कि किसानों की सिंचाई की समस्या का निदान तो होगा ही साथ ही उनके पास आय का एक निश्चित साधन भी उपलब्ध होगा.

Solar pump technique
  • 4/6

वहीं किसान सोलर पंप के सहारे किसान एग्रीवोल्टिक्स तकनीक का इस्तेमाल कर सकते हैं. यह एक प्रक्रिया है, जिसमें जमीन का अधिकतम उपयोग करते हुए सोलर पैनल लगाने और फार्मिंग का काम, दोनों एक साथ एक जगह पर किया जा सकता है. इस तकनीक फसल की उपज बढ़ेगी. इस प्रणाली में सौर ऊर्जा का उत्पादन होता है और साथ ही फसलों को छाया भी मिलती है. केन्या में इस तकनीक का बड़े पैमाने पर इस्तेमाल होता है. वहीं, अब भारत में कई किसानों इसका उपयोग करना शुरू कर दिया है.

Solar plant
  • 5/6

देश के ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली का संकट बहुत बड़ा हो गया है. ऐसी स्थिति में सोलर पैनल ग्रामीणों के लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है. इससे देश के उन क्षेत्रों में रोशनी पहुंच सकती हैं. जहां अभी तक नहीं पहुंच पाई है.

Solar pump information
  • 6/6

बता दें कि जानकारियों के आभाव में किसान इस योजना का लाभ नहीं उठा पाते हैं. राज्य सरकारें केंद्र के साथ मिलकर इसे अपने-अपने स्तर पर संचालित करती है. ऐसे में ज्यादा जानकारी के लिए किसान अपने राज्यों के विद्युत विभाग से संपर्क कर अन्य जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं. इसके अलावा किसान पीएम कुसुम योजना की वेबसाइट पर भी विजिट कर इस बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां हासिल कर सकते हैं.