scorecardresearch
 

खाद की किल्लत के बीच अधिक रेट पर बेची उर्वरक, अब नपे 4 सचिव

रबी फसलों की बुवाई चल रही है. किसान DAP उर्वरक को लेकर परेशान हैं. फसल की बुवाई लेट होने का डर बना हुआ है. अधिकतर गोदाम पर खाद की उपलब्धता नही है. कुछ साधन सहकारी समितियों पर उर्वरक की उपलब्धता है तो वह भारी मनमानी की जा रही है.

X
Fertilisers crisis
Fertilisers crisis

उत्तर प्रदेश के कई जिले इन दिनों खाद की किल्लत का सामना कर रहे हैं. इन सबके बीच किसान सहकारी समितियों से कई तरह की अनियमितताओं की खबरें सामने आ रही है. देवरिया में साधन सहकारी समितियों से अधिक रेट पर उर्वरक बेचे जाने के मामले में चार सचिवों को निलंबित कर दिया गया है. 

बता दें कि रबी फसलों की बुवाई चल रही है. किसान DAP उर्वरक को लेकर परेशान हैं. फसल की बुवाई लेट होने का डर बना हुआ है. अधिकतर गोदाम पर खाद की उपलब्धता नही है. कुछ साधन सहकारी समितियों पर उर्वरक की उपलब्धता है तो वह भारी मनमानी की जा रही है. उर्वरक के निर्धारित रेट से अधिक दर पर किसानों से प्रति बोरे खाद के लिए 20 रुपये से लेकर 50 रुपये ज्यादा लिया जा रहा है.

साधन सहकारी समितियों पर हो रही इस तरह की मनमानी से किसानों पर जबर्दस्त आक्रोश है. इसकी शिकायत DM जे पी सिंह को जनता दर्शन में की गई थी. DM के निर्देश पर इसकी जांच कराई गई. प्रथम दृष्टया दोषी पाए जाने पर यहां के सचिव रामदरश राय को निलंबित कर दिया गया है.

इसी तरह अन्य जगह भी अधिक रेट पर खाद बिक्री की शिकायत मिल रही थी. जांच कराने पर  दोषी पाए जाने पर सहकारी समिति के सचिव कमलेश यादव,पथरदेवा विकासखण्ड के रामनगर साधन सहकारी समिति के सचिव दिनेश गुप्ता व साधन सहकारी समिति देसही देवरिया के सचिव भुआल कुशवाहा को भी सस्पेंड किया गया है.

इस बड़ी कार्रवाई के बाद साधन सहकारी समितियों के सचिव में खलबली मच गई है. इसमें जांच में अधिक रुपये देकर खाद बेचने की पुष्टि होने का बाद ही यह कार्रवाई की गई है. इस मामले में AR कॉपरेटिव अजय कुमार ने बताया कि शिकायत के आधार पर जांच कराई गई है और पुष्टि होने के बाद चार सचिव सस्पेंड किये गए है और इसमें आगे की कार्रवाई की जा रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें