scorecardresearch
 

PM Kisan Samman Nidhi: सिर्फ एक हफ्ता बाकी, जल्द कर लें ये काम वरना नहीं मिलेंगे पीएम किसान सम्मान निधि योजना के पैसे

pmkisan.gov.in: पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत देशभर के करोड़ों लघु और सीमांत किसानों को आर्थिक रूप से मदद पहुंचाना है, ताकि वे आत्मनिर्भर बन सकें और अपना जीवनस्तर पहले से बेहतर कर सकें.

X
PM Kisan samman nidhi PM Kisan samman nidhi
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 31 जुलाई तक करा लें ई-केवाईसी
  • सितंबर तक आ सकती है 12वीं किस्त

PM Kisan Samman Nidhi Yojana Latest Updates: पीएम किसान सम्मान निधि योजना के माध्यम से करोड़ों लघु और सीमांत किसानों को आर्थिक मदद पहुंचाई जाती है. सरकार का मानना है कि ऐसा करने से किसानों का जीवनस्तर बेहतर होगा और खेती किसानी में दिलचस्पी भी बढे़गी.

चार महीने के अंतराल पर किसानों के बैंक अकाउंट में दो हजार रुपये भेजे जाते हैं. जिसकी अब तक 11 किस्तें किसानों के खाते में ट्रांसफर की जा चुकी हैं. अब किसान अगली यानी कि 12वीं किस्त का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं, जो कि सितंबर तक किसानों के खाते में भेजी जानी है.

ई-केवाईसी अनिवार्य

पीएम किसान योजना के लिए सरकार ने ई-केवाईसी करवाना अनिवार्य कर दिया है. इस प्रकिया को पूरा करने के लिए अब किसानों के पास कुछ ही दिन का समय बचा है. अगर इन 9 दिनों के अंदर किसानों ने ई-केवाईसी की प्रकिया नहीं पूरी कराई तो वे 12वीं किस्त से वंचित रह सकते हैं. किसान 31 जुलाई तक पीएम किसान सम्मान योजना की वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाकर इस प्रकिया को पूरा कर सकते हैं.

कैसे कराएं ई-केवाईसी?

- सबसे पहले पीएम किसान योजना की वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाएं.
- यहां आपको फार्मर कॉर्नर दिखाई देगा,जहां पर ई-केवाईसी टैब पर क्लिक करें. 
- अब एक नया पेज खुलेगा, जहां पर आधार नंबर को डालें और सर्च टैब पर क्लिक करें. 
- अब आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर नंबर पर ओटीपी जाएगा.
- ओटीपी सब्मिट पर क्लिक करें. 
- आधार रजिस्टर्ड मोबाइल ओटीपी डालें और आपका ई-केवाईसी हो जाएगा. 

अवैध लाभार्थियों को नोटिस

कई दिनों से पीएम किसान योजना का अवैध तरीके से फायदा उठाने के कई मामले सामने आ रहे हैं. अब ऐसे अवैध लाभार्थियों को पैसे वापस लौटाने के लिए नोटिस भेजा जा रहा है. नोटिस भेजने की यह प्रकिया कई महीनों से चल रही है. कहा गया है कि पैसे वापस नहीं करने पर इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई भी की जा सकती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें