scorecardresearch
 

इस राज्य के किसानों को मिल रहे हैं 3500 रुपये, लिस्ट में शामिल 31 लाख को लाभ

झारखंड के किसानों ने इस साल सूखे की भयंकर स्थिति का सामना किया. ऐसे में किसानों को बड़ी राहत देते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने प्रदेश के सूखाग्रस्त 226 प्रखंडों के लगभग 31 लाख किसान परिवारों को सूखा राहत हेतु 3,500 रुपये की राशि देने का फैसला किया है.

X
Financial assistance to drought hit farmers
Financial assistance to drought hit farmers

उत्तर भारत के कई राज्यों में इस बार मॉनसून सीजन के दौरान सूखे की स्थिति दिखी. धान की फसल को इससे बहुत बड़ा नुकसान हुआ है. इस बार उपज में भी भारी गिरावट आई है. झारखंड में भी सूखे की भयंकर स्थिति देखने को मिली थी. मॉनसून के वक्त बारिश नहीं होने पर सरकार ने किसानों को अन्य फसलों की खेती करने की सलाह दी थी. सूखे मार झेल चुके किसानों के लिए अब सरकार ने बड़ी राहत दी है.

सूखा पीड़ित किसानों को 3500 रुपये

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्य के 23वें स्थापना दिवस के अवसर पर प्रदेश के सूखाग्रस्त 226 प्रखंडों के लगभग 31 लाख किसान परिवारों को सूखा राहत हेतु 3,500 रुपये की राशि तत्काल उपलब्ध कराने का ऐलान किया है.

बिहार सरकार भी ले चुकी है ऐसा फैसला

इससे पहले बिहार सरकार ने भी इसी तरह का फैसला लिया था. 11 सूखाग्रस्त जिलों के 96 प्रखंडों के 937 पंचायतों के 7841 राजस्व ग्रामों एवं इसके अंतर्गत आने वाले सभी गांव, टोलों के सभी प्रभावित परिवारों को विशेष सहायता के रूप में 3500 रुपये उनके बैंक खाते में ट्रांसफर करने को कहा गया था. कोई भी प्रभावित परिवार छूटे नहीं, अधिकारियों को इसका ध्यान रखने को कहा गया था.

उत्तर प्रदेश में भी थी सूखे की थी भयंकर स्थिति

वहीं, उत्तर प्रदेश के भी 62 जिलों को सूखा ग्रस्त घोषित किया गया था. दलहन-तिलहन की फसलों से किसान अपने नुकसान की भरपाई कर सकें इसके लिए बीजों के मिनिकिट्स किसानों को फ्री में दिए गए थे.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें